Hindi Poems

Shayari Mantra provides a best collection of hindi poems, hindi ghazals, baby poem in hindi, hindi poems on mother and hindi kavita on life in hindi.

It is also provides a best collection of greetings shayari, latest, love, funny, romantic, miss you, friendship and sad shayari in hindi and urdu.

It’s provides various type of shayari collection for example greetings shayari, dosti, hindi, bewafa, facebook, sharabi, punjabi, urdu, sher, two lines, festival special like as holi, diwali, rakshabandhan special and many more shayari collection in hindi and English both language.

Shayari Mantra gives all shayari in both font hindi and English with images for you and you can also copy the shayari and download the images from our website.

It is a treasure trove of best collection of jokes on a wide range of various topics. You can get funny, facebook, whatsapp, ant and elephant, santa banta, cracker, dirty sex, dirty, sex jokes urdu, rajnikant vs cid, comedy msg for whatsapp, comedy jokes in English, jokes to make people laugh, funny jokes for adults dirty, whatsapp jokes in hindi latest, very funny jokes in hindi for whatsapp, funny msg for whatsapp, whatsapp funny joke in hindi download, whatsapp funny sms and funniest joke in the world.

Top 10 new latest bewafa shayari, top 10 ultimate shayari for girlfriend and boyfriend, top 10 best valentine day special shayari, greetings shayari, girls proposing shayari and daily thoughts you get it all under one platform.

If you want also to read quality hindi poems, hindi ghazals, baby poem in hindi, hindi poems on mother, hindi poeams on life, hindi kavita on life and Himalaya poeam in hindi then visit our website shayari mantra and read a best collection of all these types of poems and hindi ghazals.

  • Hindi Poems मुक्कमल किताब हूँ

    hindi poems mukammal kitab hun
    View Full Post

    मुक्कमल किताब हूँ

    तेरी ही अल्फ़ाज़ हूँ

    अधूरा सा खुआब हूँ

    पर लाजवाब हूँ

    सपनो में जो आई थी

    बस जरा सा मुस्कुराई थी

    ये देख दिल खुशगवार हुआ

    फिर मिलने का जिंदगी भर इंतज़ार हुआ

    बे इख़्तेयार प्यार हुआ

    न मेरा इज़हार हुआ

    न उसका इंकार हुआ

    फिर महबूब मेराज हुआ

    सारी मोहब्बत एक राज़ हुआ

    फिर ये मुकम्मल किताब हुआ ||

    Written by:-

    Meraj Ibn Sami

  • Hindi Poems मेरी मोहब्बत

    मेरी मोहब्बत

    उस पर ही बरसेंगी, जो मेरा दिल जीतेगी
    अपने अभिमान से ज्यादा अपनों को सम्मान देगी

    हर हाल में साथ और दुविधा में भी होसला बढ़ा देगी
    मेरी गलती पर नाराज़ होगी फिर गुस्से में मुस्करा देगी

    मेरी मोहब्बत उस पर ही बरसेंगी जो मेरा दिल जीतेगी
    ना आंधी ना बरसात में काम होगा, मेरा जो विश्वास उस पर होगा

    नादान भले होगी वो पर अपनी बाते मुझे समझा देगी
    समझेगी मेरे हालात को और फिर उसमे जो मेरा साथ देगी

    उदास होगी और फिर हस्ते हुए मुझे भी रूला देगी
    कुछ ऐसी होगी वो जो मेरा जीवन भर साथ देगी

    मेरे दिलो दिमाग में जो रहेगी और मेरी ज़िन्दगी में जो खुराफात करेगी
    दोस्तों ऐसी होगी तुम्हारी भाभी जो तुमको कभी भैया तो कभी देवर कहेगी

    ऐसी होगी मेरा दिल जीतेगी और जिसपे, मेरी मोहब्बत बरसेगी ||

  • Friendship Shayari कोई जब राह न पाए, मेरे संग आए

    कोई जब राह न पाए, मेरे संग आए
    के पग-पग दीप जलाए
    मेरी दोस्ती मेरा प्यार

    जीवन का यही है दस्तूर
    प्यार बिना अकेला मजबूर
    दोस्ती को माने तो सब दुख दूर
    कोई काहे ठोकर खाए
    मेरे संग आए

    दोनो के हैं, रूप हज़ार
    पर मेरी सुने जो संसार
    दोस्ती है भाई, तो बहना है प्यार
    कोई मत चैन चुराए
    मेरे संग आए

    प्यार का है, प्यार ही नाम
    कहीं मीरा, कहीं घनश्याम
    दोस्ती का यारो नहीं कोई दाम
    कोइ कहीं दूर ना जाए
    मेरे संग आए ||

  • Hindi Poems बा -मुश्किल मिली है आज़ादी

    बा -मुश्किल मिली है आज़ादी, ज़रा संभल के रहिये
    पहना दे बेड़िया फिर से न कोई, ज़रा संभल के रहिये
    ज़र्रे ज़र्रे में मिला है खून शहीदों का वतन वालो
    ऐसी ज़मीने हिंद को न घूरे कोई, ज़रा संभल के रहिये
    खिसका देते हैं पडोसी कुछ नाग हमारे घर में भी
    हमें फन उनका भी कुचलना है, ज़रा संभल कर रहिये
    डटे हैं जांबाज़ सीमा पर आँखें लगाये दुश्मनों पर
    घर के अंदर भी हैं दुश्मन हमारे, ज़रा संभल कर रहिये
    लहराता रहे तिरंगा अज़ीमो शान से हर तरफ
    उठे न कोई बदनज़र उस पर कभी, ज़रा संभल कर रहिये ||

  • Facebook Shayari किसी को आज़माने में

    किसी को आज़माने में, कितना वक़्त लगता है

    उल्फ़त भरी जिन्दगी जीनी पड़ती है

    मौत को आने में कितना वक़्त लगता है

    जिसकी जिन्दगी बीत जाती है इज्ज़त कमाने में

    उस इज्ज़त को गवाँने में कितना वक़्त लगता है

    यूँ तो उम्र भर का तक़ाज़ा हो जाता है बालों का सफेद होने में

    मगर उसे रंगाने में कितना वक़्त लगता है

    किसी रंगोली को बनाने में घण्टों लग जाते है

    मगर उसे मिटा जाने में कितना वक़्त लगता है

    यूँ दिल की बगिया में सुन्दर फूल देख खिलते हैं

    उसे तोड़ जाने में कितना वक़्त लगता है ||

  • Dosti Shayari किसी की आँखों मे मोहब्बत

    किसी की आँखों मे मोहब्बत का सितारा होगा
    एक दिन आएगा कि कोई शक्स हमारा होगा

    कोई जहाँ मेरे लिए मोती भरी सीपियाँ चुनता होगा
    वो किसी और दुनिया का किनारा होगा

    काम मुश्किल है मगर जीत ही लूगाँ किसी दिल को
    मेरे खुदा का अगर ज़रा भी सहारा होगा

    किसी के होने पर मेरी साँसे चलेगीं
    कोई तो होगा जिसके बिना ना मेरा गुज़ारा होगा

    देखो ये अचानक ऊजाला हो चला,
    दिल कहता है कि शायद किसी ने धीमे से मेरा नाम पुकारा होगा

    और यहाँ देखो पानी मे चलता एक अन्जान साया
    शायद किसी ने दूसरे किनारे पर अपना पैर उतारा होगा

    कौन रो रहा है रात के सन्नाटे मे
    शायद मेरे जैसा तन्हाई का कोई मारा होगा

    अब तो बस उसी किसी एक का इन्तज़ार है
    किसी और का ख्याल ना दिल को ग़वारा होगा

    ऐ ज़िन्दगी! अब के ना शामिल करना मेरा नाम
    ग़र ये खेल ही दोबारा होगा

    जानता हूँ अकेला हूँ फिलहाल
    पर उम्मीद है कि दूसरी और ज़िन्दगी का कोई ओर ही किनारा होगा ||

  • Facebook Shayari जभी मिलती है inbox पे

    जभी मिलती है inbox पे कुछ कहने से डरती है वो
    कब आउंगा में online इस इंतज़ार में रहती है वो

    बड़ी ही सरीफ है बात बात पे शर्माती है वो
    गुस्सा न हो जाऊं कहीं हर बात पे sorry बोलती है वो

    मेरे लिऐ आज भी थोड़ा सा वक्त खर्च करती है वो
    google पर आकर आज भी मुझे सर्च करती है वो ||

  • Love Shayari वो मोहब्बतें जो तुम्हारे दिल में है

    love shayari wo mohabbate jo tumhare dil me hain
    View Full Post

    वो मोहब्बतें जो तुम्हारे दिल में है

    उससे जुबां पर लाओ और बयां कर दो

    आज बस तुम कहो और कहते ही जाओ

    हम बस सुनें ऐसा बे -ज़ुबान कर दो

    आ जाओ के ऐसा टूट कर चाहूँ तुम्हें

    हमारी मोहब्बत को मोहब्बत का निशान कर दो

    अपने दिल में इस तरह छुपा लो मुझ को

    राहों हमेशा इसमें इससे मेरा जहाँ कर दो ||

Choose A Format
Story
Formatted Text with Embeds and Visuals